Nation express
ख़बरों की नयी पहचान

नकली शादी कर गहने और पैसे लूटने वाली 9 लुटेरी दुल्हन क्राइम ब्रांच के गिरफ्त में

0 281

CRIME DESK, NATION EXPRESS, पुणे

क्राइम ब्रांच पुणे ने एक ऐसे अंतरराज्यीय गिरोह का खुलासा किया है, जिसमें शामिल महिलाएं नकली शादी करके लोगों को लूटती थीं। इस गिरोह की नौ महिलाओं और दो पुरुषों को पुलिस ने अरेस्ट किया है। कुछ अन्य की तलाश जारी है। इन्होंने महाराष्ट्र, गुजरात और कर्नाटक में 50 से अधिक परिवारों में शादी की और उनके गहने, पैसे, कीमती सामान लूटकर फरार हो गईं।

Image result for गिरफ्त में लुटेरी दुल्हनें:नकली शादी कर 50 से ज्यादा परिवारों को लूटने वाली 9 दुल्हनें अरेस्ट; महाराष्ट्र, गुजरात और कर्नाटक में फैला था रैकेटक्राइम ब्रांच की टीम ने जिन महिलाओं को पकड़ा है उनकी उम्र 22 से 35 साल के बीच है। पुलिस का मानना है कि गिरोह की 12 से ज्यादा महिलाएं अभी फरार हैं। इस गिरोह ने शादी के नाम पर नासिक, पुणे, सोलापुर, गुलबर्गा, वापी और कोल्हापुर में लोगों को लूटा है।

- Advertisement -

लूट के एक मामले की जांच के दौरान रैकेट का खुलासा हुआ
पुणे ग्रामीण पुलिस की स्थानीय अपराध शाखा एक व्यक्ति (पहचान उजागर न हो इसलिए नाम नहीं दे रहे) से ढाई लाख रुपए लूटे जाने के मामले की जांच कर रही थी। पिड़ित ने बताया कि ज्योति पाटिल (35) करीब एक महीने पहले उनसे मिली थी। खुद को बेसहारा और गरीब बताकर शादी की पेशकश की। उन्होंने जनवरी के तीसरे हफ्ते में शादी कर ली। पिछले हफ्ते पीड़ित परिवार ने लूट की शिकायत दर्ज कराई।

क्राइम ब्रांच की टीम ने पड़ताल शुरू की तो ज्योति के एक दोस्त का पता चला। उसने बताया कि ज्योति पहले से शादीशुदा है और उसके दो बच्चे भी हैं। पुलिस का कहना है कि ज्योति ही इस गिरोह की सरगना है।

पुलिस ने लोगों से आगे आने को कहा
पुलिस ने अब तक ज्योति पाटिल समेत नौ महिलाओं और दो पुरुषों को अरेस्ट किया है। ज्योति ने माना है कि उसने अब तक पांच पुरुषों से शादी की है। हालांकि, इसमें से सिर्फ एक ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई। इस मामले को लेकर पुणे ग्रामीण पुलिस के एसपी अभिनव देशमुख ने कहा, ‘हम लोगों से अपील करना चाहते हैं कि जिन के साथ भी इस तरह की लूट हुई है वे सामने आएं और हमें बताएं, ताकि ऐसे और केस का खुलासा हो सके।

Report By :- SNEHA SINGH, CRIME NEWS, NATION EXPRESS, पुणे

Leave A Reply

Your email address will not be published.

GA4|256711309