Nation express
ख़बरों की नयी पहचान

इश्क के चक्कर में दिल्ली से भागी युवती निकली कोरोना पॉजिटिव

0 299

जामताड़ा : इश्क के चक्कर में लॉकडाउन (lockdown) की धज्जियां उड़ाते हुए और तमाम बंदिशों को तोड़कर कोर्ट मैरिज (court marriage) के चक्कर में रेड जोन दिल्ली से भागकर झारखंड के जामताड़ा (jamtada) पहुंची युवती कोरोना पॉजिटिव (CORONA POSITIVE)  निकली है. अब उसे छोड़ने के लिए डॉक्टरों पर राजनीतिक दबाव बनाया जा रहा है.

कोर्ट मैरिज करने के लिए उसे शुक्रवार को थाने के चक्कर लगाने पड़े. पुलिस ने सैंपल जांच के लिए उसे कोविड अस्पताल उदलबनी पहुंचाया. कोरोना जांच हुई, तो शनिवार को उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आयी. उसे कोविड-19 अस्पताल उदलबनी में आइसोलेट कर दिया गया. इधर, उसे छुड़वाने के लिए कोविड टीम के डॉक्टरों पर राजनीतिक दबाब बनाया जाने लगा. संक्रमित युवती वेस्ट दिल्ली के तिलक नगर से भागकर शादी के लिए झारखंड पहुंची है. एपिडेमियोलॉजिस्ट ने बताया कि स्थानीय विधायक के प्रतिनिधि की ओर से विधायक का हवाला देते हुए चिकित्सकों को फोन करके युवती को छोड़ने का दबाव बनाया जा रहा है. एसपी, एसडीओ सहित वरीय प्रशासनिक अधिकारियों को इसकी सूचना दे दी गयी है.

प्रेमी युगल ने बताया कि तीन दिन पूर्व दिल्ली से ये लोग कोलकाता पहुंचे थे. वहां से किसी ट्रेन से मधुपुर स्थित प्रेमी युवक बाजू शेख के घर पहुंचे. दो दिन तक देवघर स्थित निबंधन कार्यालय में विवाह के निबंधन के लिए कार्यालय के चक्कर लगाये. तकनीकी अड़चन के कारण विवाह का निबंधन नहीं हो सका.

विवाह का निबंधन नहीं हो पाने के कारण शुक्रवार को टेंपो से युवती को लेकर उसका प्रेमी और उसके परिजन जामताड़ा निबंधन कार्यालय पहुंच गये. यहां भी तकनीकी अड़चन आड़े आ गयी. नतीजा यह हुआ कि यहां भी उनके विवाह का निबंधन नहीं हो पाया.

युवती की है ट्रैवल हिस्ट्री

शुक्रवार को लोगों ने इस युवती को कोर्ट परिसर में घूमते देखा. जैसे ही लोगों को जानकारी मिली की युवती दिल्ली से शादी करने आयी है, इसकी सूचना थाना को दी गयी. गश्ती दल प्रेमी युगल को उठाकर थाना ले गया. थाना में पूछताछ में पता चला कि परिवार की नाराजगी के कारण युवती ने सभी बंदिशें तोड़ दी. लॉकडाउन को ठेंगा दिखाते हुए शादी करने के लिए घर से भाग गयी.

युवती को छुड़ाने की जिद पर अड़े

मधुपुर के रहने वाले बाजू शेख ने बताया कि वह युवती के घर के पड़ोस में रहता था. तभी दोनों एक-दूसरे के संपर्क में आये. चार महीने पहले भी युवती घर से भागकर शादी करने के लिए मधुपुर आ रही थी. लेकिन, परिवार वालों की रजामंदी नहीं होने के कारण पटना से ही उसे दिल्ली लौटना पड़ा था.

डॉ दुर्गेश झा ने कई बार समझाने का प्रयास किया कि यहां संक्रमित मरीजों को आइसोलेट किया गया है. कोरोना के संदिग्धों को कोरेंटिन किया गया है. इसलिए यहां रुकना सुरक्षित नहीं है. बावजूद इसके वे जिद पर अड़े हैं. शनिवार को कोविड अस्पताल के समीप स्थानीय लोगों की भीड़ जुट गयी.

लिहाजा, जामताड़ा थाना को सूचना देकर पुलिस बल को बुलाया गया है. डॉ अजीत कुमार दुबे ने बताया कि प्रेमी व उसके माता-पिता भी युवती के क्लोज संपर्क में आये हैं. इसलिए उन्हें भी एंबुलेस भेजकर बुलाने का प्रयास किया गया, लेकिन वे नहीं आये.

डॉ दुबे ने बताया कि शुक्रवार को देवघर में कोरोना संक्रमण के 100 से अधिक केस आये हैं. नियम कहता है कि युवती के प्रेमी और उसके माता-पिता की भी कोरोना जांच होनी चाहिए. जो लोग इनके संपर्क में आये हैं, सभी की जांच होनी चाहिए.

- Advertisement -

Leave A Reply

Your email address will not be published.

GA4|256711309