Nation express
ख़बरों की नयी पहचान

धोखेबाज भाभी !! प्यारे देवर को छोड़ मोदी की हुई भाभी सीता ! बीजेपी प्रवक्ता प्रत्तुल शाहदेव का बयान- ‘लंका से मुक्त हुई सीता

0 304

POLITICAL DESK, NATION EXPRESS, NEW DELHI / RANCHI

जामा विधायक और झारखंड मुक्ति मोर्चा के सुप्रीमो शिबू सोरेन की बड़ी बहू, सीता सोरेन आज भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गईं। दिल्ली स्थित पार्टी मुख्यालय में महासचिव विनोद तावड़े और झारखंड बीजेपी के संगठन महामंत्री लक्ष्मीकांत वाजपेयी की मौजूदगी में सीता सोरेन ने पार्टी का दामन थाम लिया। इस मौके पर सीता सोरेन ने कहा कि अलग झारखंड राज्य के लिए उनके ससुर शिबू सोरेन और पति स्वर्गीय दुर्गा सोरेन ने खून-पसीना बहाया लेकिन 24 साल बाद भी राज्य, विकास से कोसों दूर है। सीता सोरेन ने कहा कि हम झारखंड को झुकाएंगे नहीं बल्कि जिताएंगे। उन्होंने कहा कि बीजेपी, प्रदेश की सभी 14 लोकसभा सीटों पर जीतेगी। सीता सोरेन ने कहा कि मैं आज खुशी और गौरवान्वित महसूस कर रही हूं।

- Advertisement -

मोदी के विशाल परिवार में शामिल हुई हूं!
पार्टी मुख्यालय में मीडिया से मुखातिब सीता सोरेन ने कहा कि मैं आज झामुमो का महापरिवार छोड़कर, मोदी के विशाल परिवार में शामिल हो रही हूं। मैं देश और विश्व के प्रति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सोच से प्रभावित हूं। देश में विकास का बहुत सारा काम हो रहा है। जेपी नड्डा, अमित शाह और देवेंद्र फड़णवीस सरीखे नेता, दिन रात देश के विकास का खाका खींचने में लगे हैं। चुनाव का समय आ गया है। पूरे देश से ऐसी सूचना मिल रही है कि लोग भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशियों पर भरोसा जता रहे हैं। इस विशाल परिवार के प्रति लोगों की आस्था और विश्वास को देखकर ही मैंने इसमें जुड़ने का फैसला किया। 

Sita Soren की बेटी jayshree Soren देने वाली हैं अपने चाचा और झारखंड के CM Hemant को खुली चुनौती... - YouTube14 साल से झामुमो में काफी संघर्ष किया है
सीता सोरेन ने कहा कि मैं झारखंड में काफी संघर्ष किया है। 14 साल से झारखंड मुक्ति मोर्चा में थी। ससुर, शिबू सोरेन और पति स्वर्गीय दुर्गा सोरेन की अगुवाई में झारखंड अलग राज्य बना। उनका सपना था विकसित झारखंड। उन्होंने खूब मेहनत की। संगठन बनाया। जल, जंगल और जमीन की रक्षा के लिए लड़ाई लड़ी लेकिन, उनकी लड़ाई अधूरी रह गई। स्वर्गीय दुर्गा सोरेन चाहते थे कि वे राजनीति में आएं। विधायक और सांसद बनें। लोगों की सेवा करें लेकिन उनकी असमय मृत्यु से ऐसा नहीं हो सका। उनका सपना पूरा करने ही मैं भी राजनीति में आई। झारखंड गठन को 24 साल बीत गए लेकिन हमें जहां पहुंचना था वहां नहीं पहुंचे। आदिवासी-मूलवासी उपेक्षित रह गये। राज्य में देश का 40 फीसदी खनिज है, बावजूद इसके लोग रोजगार के लिए भटक रहे हैं। पलायन हो रहा है। जनता भी अब बदलाव के मूड में है। झारखंड को बचाना होगा। 

Jharkhand Politics Shibu Soren Older Daughter In Law Sita Soren Opposes Hemant Soren Wife Kalpana Soren To Become CM Profile | कौन हैं सोरेन परिवार की वो बहू, जिनकी वजह से कल्पनाझारखंड में सभी 14 सीटों पर कमल खिलेगा!
सीता सोरेन ने कहा कि हमें मिलकर, झारखंड, झारखंडी और झारखंडियत को बचाना होगा। मेरा यही मकसद है। प्रदेश की जनता को न्याय दिलाना है। हम सब मिलकर पीएम मोदी की सोच को साकार करने के लिए काम करेंगे। मेरे पति की जो भी सोच थी वह पूरा होगा। सीता सोरेन ने कहा कि मैंने बहुत बड़े मकसद के साथ झामुमो ज्वॉइन किया है। झारखंड को झुकाएंगे नहीं। झारखंड को बचाएंगे। सभी 14 लोकसभा सीटें जीतेंगे। 

‘लंका से सीता हुई मुक्त..’, सीता सोरेन के इस्तीफे पर प्रत्तुल शाहदेव का बयान

जामा विधायक सीता सोरेन ने झारखंड मुक्ति मोर्चा से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने ससुर शिबू सोरेन को मेल कर अपनी इस्तीफा सौंपा है। वहीं उनके इस्तीफे के बाद अब बयानबाजी का दौर भी शुरू हो गया है। बीजेपी प्रवक्ता प्रत्तुल शाहदेव ने ट्वीट कर लिखा है कि लंका से एक विभीषण निकला है जो इस बुराई के स्वरूप वाले लंका का नाश करेगा। आज इसी लंका से सीता मुक्त हो गई।

 

साफ हो गया कि ये लंका है
बता दें कि प्रत्तुल शहदेव ने जेएमएम जामताड़ा के एक ट्वीट पर जवाब देते हुए लिखा है कि चलिए आपके ट्वीट से एक चीज तो साफ हो गया कि ये लंका है। यहां बुराई के प्रतीक माने जाने वाला रावण राज के समान परिस्थितियों है और चारों ओर अधर्म का बोलबाला है। आपके अनुसार आज इसी लंका से एक विभीषण निकला है। इस बुराई के स्वरूप वाले लंका का नाश करेगा। बड़े हृदय से देखे तो आज इसी लंका से सीता मुक्त हो गई। गौरतलब है कि जेएमएम जामताड़ा ने ट्वीट कर लिखा है कि घर का भेदी लंका ढाए। इसी पर शहदेव ने जवाब दिया है। 

Report By :- PALAK TIWARI, ANKITA PANDEY, POLITICAL DESK, NATION EXPRESS, NEW DELHI / RANCHI

Leave A Reply

Your email address will not be published.

GA4|256711309