Nation express
ख़बरों की नयी पहचान

सब इंस्पेक्टर मीरा सिंह के आवास पर ED की रेड !! 50 लाख कैश समेत जमीन के कई कागजात मिलने की खबर

0 976

NEWS DESK, NATION EXPRESS, RANCHI

कांग्रेस नेता लाल मोहितनाथ के ठिकानों पर भी छापेमारी

प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने गुरुवार सुबह रांची में छापा मारा है। यह छापेमारी तुपुदाना ओपी प्रभारी सब इंस्पेक्टर मीरा सिंह के आवास पर चल रही है। इसके अलावे कांग्रेस नेता के तौर पर जाने जाने वाले जमीन कारोबारी लाल मोहितनाथ शाहदेव के घर पर भी रेड पड़ी है। सब इंस्पेक्टर मीरा सिंह के घर से 50 लाख कैश मिलने की खबर है, हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। साथ ही 8 मोबाइल फोन भी जब्त किए गए हैं।

- Advertisement -

छापेमारी के पीछे की वजह अवैध बालू और जमीन का धंधा बताया जा रहा है। सूचना के मुताबिक टीम ने सुबह तकरीबन छह बजे ही दबिश दी है।

सूत्रों की मानें तो सब इंस्पेक्टर मीरा सिंह और कांग्रेस नेता लाल मोहित नाथ शाहदेव के बीच अच्छे संबंध है। संभावना जताई जा रही है कि इन्हीं वजहों से रेड मारी गई। ईडी ने दोनों के तुपुदाना स्थित ठिकाने पर छापेमारी की है। फिलहाल छापेमारी जारी है। इस दौरान दोनों के आवास पर सेंट्रल पुलिस फोर्स की तैनाती की गई है।

बिजनेस पार्टनर हैं दोनों

सबसे पहले ब्रिजफोर्ड स्कूल तुपूदाना के पास थाना प्रभारी मीरा सिंह के किराए के घर पर छापा पड़ा। इसके बाद तुपुदाना लाल बस्ती स्थित लाल मोहित नाथ शाहदेव के पैतृक आवास पर छापेमारी हुई। ईडी अधिकारियों से छापेमारी के संबन्ध में पूछने पर कुछ भी बोलने से इनकार किया। हालांकि सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार थाना प्रभारी मीरा सिंह और कांग्रेस नेता लाल मोहित नाथ शाहदेव दोनों जमीन कारोबारी समेत अन्य कारोबार में पार्टनर है। और यही कारण है कि आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के मामले में ईडी की यह छापेमारी हुई है।

रांची में ED का एक्‍शन,चर्चित सब इंस्‍पेक्टर मीरा सिंह के ठिकानों पर रेड;  जमीन घोटाले से जुड़ा मामला - Republic Bharatसत्ता की करीबी मानी जाती हैं मीरा सिंह

मीरा सिंह के बारे में कहा जाता है कि वह सत्ता की इतने करीब हैं कि एक दफा डीजीपी को भी उनके तबादले का आदेश वापस लेना पड़ा था। उस दौरान खूंटी में महिला थानेदार रहते हुए मीरा सिंह को रिश्वत लेते एसीबी ने गिरफ्तार किया था। यह मामला अभी कोर्ट में विचाराधीन है। रांची में ट्रांसफर होने के बाद दारोगा मीरा सिंह को दो साल पहले तुपुदाना ओपी का थाना प्रभारी बनाया गया था।

चर्चित पुलिस अधिकारी रही हैं मीरा सिंह

रांची के तुपुदाना ओपी की थाना प्रभारी मीरा सिंह चर्चित पुलिस अधिकारी रही हैं। मीरा सिंह रिश्वत लेने के आरोप में पहले जेल जा चुकी हैं। जानकारी के मुताबिक मीरा सिंह वही पुलिस अफसर हैं, जिन्हें खूंटी में एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने रिश्वत लेते हुए रंगेहाथों गिरफ्तार किया था। मीरा के खिलाफ जांच अब भी एसीबी में लंबित है।

डीजीपी के आदेश पर भारी पड़ी थी थाना प्रभारी मीरा सिंह

इन्फोर्समेंट डायरेक्टोरेट (ईडी) की टीम दरोगा मीरा सिंह के ठिकाने पर छापेमारी कर रही है. बताया जाता है कि मीरा सिंह का पुलिस विभाग में काफी दबदबा है. उनके पावर का अंदाजा इस बात लगाया जा सकता है कि आज से छह माह पहले डीजीपी ने उनका तबादला रांची से हजारीबाग के पीटीसी पदमा कर दिया था. लेकिन थाना प्रभारी मीरा सिंह डीजीपी के आदेश पर भी भारी पड़ गयी थी. तबादला होने के एक सप्ताह के दौरान ही डीजीपी को अपने आदेश को विलोपित करना पड़ा था. 

ये तस्वीर 25 फरवरी 2021 की है, जब एसीबी ने मीरा सिंह को रिश्वत लेते हुए पकड़ा था।

दुष्‍कर्म मामले में आरोपित को बचाने के लिए मीरा ने मांगी थी 50 हजार रिश्‍वत

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) की टीम ने 25 फरवरी 2021 को मीरा सिंह को 15 हजार रुपये घूस लेते गिरफ्तार किया था. खूंटी की तत्कालीन महिला थाना प्रभारी मीरा सिंह को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो रांची की टीम ने खूंटी महिला थाना से गिरफ्तार किया था. जानकारी के अनुसार, मीरा सिंह ने दुष्कर्म मामले में आरोपित को बचाने के लिए 50 हजार रूपये रिश्वत मांगी थी. पहली किश्त में 15 हजार की मांग की थी और रिश्वत लेते एसीबी की टीम ने उन्हें धर दबोचा था.

Report By :- ADITI PANDIT, NEWS DESK, NATION EXPRESS, RANCHI

Leave A Reply

Your email address will not be published.

GA4|256711309