Nation express
ख़बरों की नयी पहचान

झारखंड में 15 दिनों का लग सकता है लॉकडाउन, कल कैबिनेट में हो सकता है फैसला

0 603

रांची : झारखंड में कोरोना संक्रमण (covid 19) के बढ़ते आंकड़ों से मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (cm hemant soren)  चिंतित हैं. ऐसे में उन्होंने संकेत दिये हैं कि राज्य में एक बार फिर से लॉकडाउन-1 (lockdown-1) की तरह सख्ती की जा सकती है. यानी आवश्यक सेवाओं को छोड़ कर अन्य सभी तरह की छूट वापस ली जा सकती हैं. इस मुद्दे पर 22 जुलाई को होनेवाली कैबिनेट (cabinet) की बैठक में मंत्रियों के साथ चर्चा की जायेगी.

राज्य में एक बार फिर से लॉकडाउन-1 की तरह15 दिनों तक की जा सकती है सख्ती

श्री सोरेन ने मुख्य सचिव (chief secretary) समेत अन्य वरीय अधिकारियों के साथ इस मुद्दे पर बैठक की. साथ ही सभी जिलों में कोरोना की स्थिति की जानकारी ली. प्रोजेक्ट भवन (project bhavan) में मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण (corona virus) के आंकड़े बढ़ने की आशंका पहले से ही थी. जब यातायात खोला गया, तो यहां आवागमन बढ़ गया. इस कारण संक्रमण के आंकड़ों में वृद्धि हुई. हालांकि, जांच का दायरा बढ़ा है, इस वजह से भी पहले की तुलना में ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं.

- Advertisement -

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार संक्रमण के बढ़ते मामलों पर लगातार नजर बनाये हुए है. पहले यातायात (traffic) को रोका गया है. कैबिनेट की बैठक में हम निर्णय लेंगे कि आगे क्या कदम उठाना है.

बॉर्डर सील किया जायेगा

सूत्रों का कहना है कि राज्य के बॉर्डर (border) को सील कर दिया जायेगा. केवल आवश्यक सेवा के समान लानेवालों को ही इंट्री दी जा सकती है. वहीं, पास बनवाकर राज्य में आनेवालों का कोरेंटिन और उनकी कोरोना जांच भी सुनिश्चित की जायेगी. शहर में भी अनावश्यक ट्रैफिक पर लॉकडाउन-1 जैसी ही रोक लग सकती है. केवल आवश्यक परिवहन सेवा को ही आने-जाने की अनुमति होगी.

15 दिनों तक की जा सकती है सख्ती

सूत्रों के अनुसार, इस बार सरकार कम से कम 15 दिन तक सख्ती कर सकती है. इस पर टास्क फोर्स से राय ली गयी है. सख्ती के दौरान आवश्यक सेवाओं को छोड़ सभी तरह की छूट वापस ली जा सकती है. हाट-बाजारों के लिए समय निर्धारित किया जा सकता है. मास्क न पहनने पर दंड लगाने का प्रावधान भी किया जायेगा.

Report by : Shadab Khan

Leave A Reply

Your email address will not be published.

GA4|256711309