Nation express
ख़बरों की नयी पहचान

राष्ट्रीय बाल पुरस्कार के लिए चयनित रांची की बेटी सविता कुमारी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीने की बात

0 301

POLITICAL DESK, NATION EXPRESS, RANCHI

रांची की बेटी और इंटरनेशनल तीरंदांज़ सविता कुमारी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को बातचीत की। राष्ट्रीय बाल पुरस्कार के लिए चयनित 32 बच्चों में शामिल सविता से PM ने कहा कि सविता जी झारखंड से निकलकर इंटरनेशनल तक पहुंची हो। आप देश की बेटियों के लिए मिसाल हो। आप ओलिंपिक में मेडल जीतिए।

PM ने कहा कि झारखंड की बेटियां कमाल करती हैं। छोटे-छोटे गांव शहर से निकलकर दुनिया भर में अपने हुनर का लोहा मनवा रहीं हैं। ये देश के अन्य बच्चों के लिए प्रेरणा हैं। पीएम ने सविता से पूछा कि आपने कब और कैसे तय किया कि आपको आर्चरी में ही अपना करियर बनाना है। इस पर सविता ने कहा कि वह कस्तूरबा विद्यालय सोनाहातू में रहकर पढ़ाई करती थी। इसी दौरान उन्हें आर्चरी के बारे में बताया गया। तभी उन्होंने तय कर लिया था कि आर्चरी में ही करियर बनाना है

- Advertisement -

सविता ने PM से कहा- देश के लिए जीतना चाहती हूं

जब पीएम ने सविता से पूछा कि आगे का क्या इरादा है। अब तो आप इंटरनेशनल प्लेयर बन गई हैं। आगे का क्या इरादा है। इस पर सविता ने कहा कि वे अपने देश के लिए खेलना चाहती हैं। विदेशी सरजमीं पर जब देश का राष्ट्रगान बजते सुनना उन्हें हमेशा उत्साहित करता है। इस पर पीएम ने कहा आप खूब गोल्ड मेडल जीतिए देश का नाम रोशन करिए।

सविता ने कहा कि वे अपने देश के लिए खेलना चाहती हैं। विदेशी सरजमीं पर जब देश का राष्ट्रगान बजते सुनना उन्हें हमेशा उत्साहित करता है। (फाइल)PM ने पूछा- मम्मी-पापा को आपकी चिंता नहीं होती

सविता के साथ उनके माता-पिता भी थे। इस पर PM ने सविता से पूछा कि आपको बाहर अकेले भेजने में आपके माता-पिता को चिंता नहीं होती है। सविता ने कहा कि वो अपने घर में पहली लड़की हैं जो बाहर खेलने के लिए निकली हैं। इससे पहले कोई नहीं जाता था। इसमें उनके माता-पिता का भी सहयोग है।

साउथ एशियन आर्चरी चैंपियनशिप में इंडिया को दिलाया है गोल्ड

चार साल पहले सविता कुमारी को कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय, सोनाहातु (रांची) में एडमिशन मिला था। 2016 में बिरसा मुंडा एकेडमी, सिल्ली के कोच प्रकाश राम और शिशिर महतो की नजर सविता पर पड़ी थी। उसे कस्तूरबा गांधी स्कूल में स्पोर्ट्स के लिए टैलेंटेड प्लेयर्स के तौर पर आर्चरी की ट्रेनिंग के लिए फाइनल किया गया। दो साल की ट्रेनिंग के बाद वह नेशनल चैंपियन बनी। 2018 में उसका सिलेक्शन जूनियर इंडियन टीम में हुआ। बांग्लादेश में आयोजित साउथ एशियन आर्चरी चैंपियनशिप में टीम इवेंट में उसने भारत के लिए गोल्ड मेडल जीता।

अलग-अलग कैटेगरी में 32 का सिलेक्शन

पीएम राष्ट्रीय बाल पुरस्कार हर साल देश भर से अलग अलग कैटेगरी में चयनित प्रतिभाशाली बच्चों को दिये जाते हैं। इस साल भी कला संस्कृति और खेल कैटेगरी में 7-7 बच्चों को फाइनल किया गया है। विपरीत परिस्थितियों में बहादुरी दिखाने को 3 बच्चे सिलेक्ट हुए हैं। 9 बच्चों को इनोवेशन और 5 बच्चे स्कूली शिक्षा में बेहतर प्रदर्शन (Scholastic) और एक को सोशल सर्विस के लिए उल्लेखनीय काम करने को फाइनल किया गया है।

Report By :-SHADAB KHAN, POLITICAL DESK, NATION EXPRESS, RANCHI

Leave A Reply

Your email address will not be published.

GA4|256711309