Nation express
ख़बरों की नयी पहचान

एंबुलेंस नहीं मिली तो कार की छत पर पिता का शव बांधकर श्मशान घाट पहुंचा बेटा

0 394

NEWS DESK, NATION EXPRESS, आगरा

आगरा में कोरोना महामारी कहर बनकर टूट रही है। न संक्रमण थम रहा है और न ही मरीजों की मौत का सिलसिला। प्रशासन के आंकड़े कुछ भी हों, लेकिन श्मशान घाट पर चिताओं की आग नहीं बुझ रही है। ताजगंज श्मशान घाट पर रोज 40 से ज्यादा शव पहुंच रहे हैं। हालत यह है कि शवों को ले जाने के लिए एंबुलेंस नहीं मिल पा रही है। एक-एक एंबुलेंस में तीन-चार शव लाने पड़ रहे हैं। शनिवार को एंबुलेंस न मिलने के कारण एक युवक अपने पिता के शव को कार के ऊपर बांधकर श्मशान पर पहुंचा।

कार की छत पर बंधी अर्थीदेश में कोरोना कहर बनकर टूट रहा है। वहीं आगरा से एक बड़ी खबर सामने आई है। जहाँ न संक्रमण थम रहा है और न ही मरीजों की मौत का सिलसिला। उधर प्रशासन के आंकड़े कुछ भी हों, लेकिन श्मशान घाट पर चिताओं की आग नहीं बुझ रही है। दूसरी ओर ताजगंज श्मशान घाट पर रोज 40 से ज्यादा शव पहुंच रहे हैं और हालत यह है कि शवों को ले जाने के लिए एंबुलेंस नहीं मिल रही है। एक-एक एंबुलेंस में तीन-चार शव लाने पड़ रहे हैं। वहीं शनिवार को एंबुलेंस न मिलने के कारण 1 युवक अपने पिता के शव को कार के ऊपर बांधकर श्मशान पर पहुंचा।

- Advertisement -

बताया जा रहा है की शनिवार को जयपुर हाउस में रहने वाले मोहित को काफी कोशिशों के बाद भी पिता का शव ले जाने के लिए एंबुलेंस नहीं मिली। जब कोई रास्ता नहीं सूझा, तो मोहित ने पिता के शव को कार के ऊपर बांधा और दाह संस्कार के लिए श्मशान घाट लेकर पहुंचे। अंतिम संस्कार का समय मिलने पर पिता के शव को बेटे ने कार की छत से उतारकर रखा। श्मशान घाट पर अपनों के शव लेकर पहुंचे परिजनों ने जब यह नजारा देखा, तो उनकी आंखें भी नम हो गई। गौरतलब है की ताजगंज शमशान घाट के विद्युत शवदाह गृह की चिमनियां हर रोज बिना रुके 20 घंटे धुआं उगल रही हैं।

Report  By :- BABLI SINGH, NEWS DESK, NATION EXPRESS, आगरा

Leave A Reply

Your email address will not be published.

GA4|256711309