Nation express
ख़बरों की नयी पहचान

सुशांत भैया ने कभी भी अपने कमरे को अंदर से बंद नहीं किया :- पूर्व असिस्टेंट अंकित आचार्य

0 321

पटना ;- सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या मामले में मंगलवार को बिहार सरकार ने सीबीआई जांच की सिफारिश कर दी। इसी बीच उनके पूर्व असिस्टेंट अंकित आचार्य ने NATION EXPRESS से बातचीत में बताया कि मैं उनके साथ तीन साल तक रहा हूं और मेरे रहते उन्होंने कभी अपने कमरे को अंदर से बंद नहीं किया।

NATION EXPRESS के साथ बातचीत में अंकित ने कहा, ‘मैं सुशांत भैया के साथ उनकी परछाई की तरह रहता था। मैं उनके साथ तीन साल तक रहा हूं। सुशांत भैया ने कभी भी अपने कमरे को अंदर से बंद नहीं किया। तीन साल में कभी नहीं, जब तक मैं उनके साथ रहा। ये बात को मैं पूरे विश्वास के साथ कह सकता हूं।’ सुशांत 14 जून को मुंबई के बांद्रा स्थित अपने फ्लैट के कमरे में पंखे पर फंदे से लटके पाए गए थे। उनके कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था।

- Advertisement -

गांव से लौटा तो पूरा स्टाफ नया मिला

इसके साथ ही अंकित ने बताया कि अगस्त 2019 में रिया चक्रवर्ती ने सुशांत के पूरे स्टाफ को बदल दिया था। उन्होंने कहा, ‘अगस्त 2019 में जब मैं अपने गांव से वापस आया तो मुझे अचानक उनका पूरा स्टाफ बदला हुआ मिला। उनके नए बॉडीगार्ड्स ने मुझे उनके घर में घुसने तक नहीं दिया था। मुझे लगा कि रिया मैडम ने पूरे स्टाफ को बदल दिया है। हालांकि उन्होंने ऐसा क्यों किया था ये मुझे नहीं पता।’

घर पर लगातार पूजा-पाठ हो रहे थे

अंकित के मुताबिक, ‘सुशांत के नए स्टाफ ने मुझे बताया कि रिया मैडम शॉपिंग, फूड और पूजन सामग्री पर बहुत खर्च कर रही हैं। नए कर्मचारियों ने मुझसे कहा कि सुशांत के घर पर लगातार पूजा-पाठ हो रहा है। मुझे नहीं पता ये सब किस वजह से हो रहा था।’

सितंबर तक पूरी तरह बदल चुके थे सुशांत

अंकित ने बताया कि सितंबर 2019 में जब उनकी मुलाकात सुशांत से हुई थी तो वे अस्वस्थ दिख रहे थे। उन्होंने कहा, ‘सुशांत भैया मजे के मूड में ही रहते थे। वे मुझे अपने भाई की तरह मानते थे। लेकिन सितंबर 2019 में जब उन्होंने मेरा पूरा हिसाब कर दिया तो वे एक बदले हुए व्यक्ति थे। उनकी आंखों के नीचे काले घेरे थे, वे एक बार भी मुस्कुराए तक नहीं थे। वे मुझे उदास दिख रहे थे।’

सीबीआई को सौंपी जांच

मंगलवार को हुए एक अन्य घटनाक्रम में बिहार सरकार ने सुशांत आत्महत्या मामले में सीबीआई जांच की सिफारिश कर दी है। इससे पहले, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा, ‘परिवार की सहमति के बाद ही यह फैसला लिया जाना था। हमने पहले ही कहा था कि परिवार अगर मांग करेगा तो हम उस पर काम करेंगे। आज सुशांत के पिता ने हमसे मांग की। आज ही हम सिफारिश भेज देंगे। प्रक्रिया शुरू हो गई है।’
रिया के वकील ने कहा- ऐसा नहीं हो सकता

बिहार सरकार द्वारा सीबीआई जांच की सिफारिश को लेकर रिया चक्रवर्ती के वकील सतीश मानशिंदे ने कहा कि यह केस बिहार सरकार के अधिकार क्षेत्र से बाहर है। ऐसे में इसे सीबीआई को सौंपे जाने का कोई कानूनी महत्व नहीं है। उन्होंने भड़कते हुए कहा कि बिहार सरकार को जब लगा कि उनके पास इसे केस की जांच का अधिकार नहीं है तो उन्होंने यह गलत तरीका निकाला है।

नारायण राणे ने सुशांत की मौत को हत्या बताया

महाराष्ट्र भाजपा नेता नारायण राणे ने मंगलवार को आरोप लगाया कि सुशांत की हत्या हुई है। उन्होंने कहा, ‘सुशांत ने सुसाइड नहीं किया है। उसकी हत्या हुई है। महाराष्ट्र सरकार केस पर ध्यान नहीं दे रही, क्योंकि वो किसी को बचाने की कोशिश कर रही है।’

बीएमसी बिहार के चार अफसरों को तलाश रही

बृहन्मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) के अफसर बिहार पुलिस के उन चार अफसरों को तलाश रहे हैं, जो जांच के लिए मुंबई आए हुए हैं। बीएमसी ने रविवार को पटना के एसपी विनय तिवारी क्वारैंटाइन कर दिया। पटना के आईजी संजय सिंह ने बताया कि हमारी पुलिस चिन्हित लोगों को मुंबई में खोज रही है, लेकिन अभी तक उनका पता नहीं लगा है।

Report By :- Nandini Sachdeva (Patna) & Riya Shrivastav (Mumbai) 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

GA4|256711309